गर्मी में मटके का पानी पियें और रोगों से बचें

87
2341

कैसे ठंडा रहता है पानी :

loading...

मटके के पानी का ठंडा होना वाष्पीकरण की क्रिया पर निर्भर करता है। जितना ज्यादा वाष्पीकरण होगा, उतना ही ज्यादा पानी भी ठंडा होगा। मिटटी के घड़े में सूक्ष्म छिद्र होते हैं, जिनके माध्यम से घड़े का पानी बाहर निकलता रहता है। गर्मी के कारण पानी वाष्प बन कर उड़ जाता है। वाष्प बनने के लिए गर्मी का उपयोग मटके की गर्मी से होता है। इस पूरी प्रक्रिया में मटके का तापमान कम हो जाता है फलस्वरूप पानी ठंडा रहता है।

मटके के पानी के लाभ –

प्रतिरक्षा तंत्र की मजबूती बढ़ाये :

मटके का पानी पीने से रोग प्रतिरोधी क्षमता को बढ़ावा मिलता है शोध से यह भी पता चला है कि घड़े के पानी का सेवन करने से शरीर में टेस्टोस्टेरोन का स्तर बढ़ जाता है। इसलिए घड़े में रखा पानी हमें स्वस्थ बनाए रखने में अहम भूमिका निभाता हैं।

एसिडिटी से राहत दिलाये :

हमारे रक्त की प्रकृति क्षारीय है मिट्टी में भी क्षारीय गुण विद्यमान होते है। क्षारीय पानी की अम्लता के साथ प्रभावित होकर, उचित पीएच संतुलन प्रदान करता है। इस पानी को पीने से एसिडिटी में लाभ मिलता हैं।

गले को ठीक रखे :

फ़्रिज का ठंडा पानी हमारे गले एवं थायरायड व पैराथायरायड ग्रंथि पर दुष्प्रभाव डालता है | अधिक ठंडा पानी पीने से गले की कोशिकाओं का ताप अचानक गिर जाता है ग्रंथियों में सूजन आने लगती है फलस्वरूप शरीर की क्रियाओं का असंतुलन प्रारंभ हो जाता है। मटके का पानी हमें इन रोगों से सुरक्षा प्रदान करता है |

वात नियंत्रण करे :

गर्मी में बर्फ का पानी किसे अच्छा नही लगता, परन्तु आप जानते है कि यह पानी वात प्रकृति को बढाता है। जबकि मटके का पानी हमें ठंडक की संतुष्टि तो देता है परन्तु वात रोगों को नहीं बढ़ाता | इसलिए वात रोगियों के लिए मटका का पानी फ़्रिज की अपेक्षा लाभकारी है |

कब्ज से बचाए :

बर्फ का पानी न सिर्फ हमारा गला ख़राब करता है बल्कि इसका प्रयोग पाचन संस्थान पर दुष्प्रभाव डालकर कब्ज एवं अन्य पाचन तंत्र के रोग उत्पन्न करता है जबकि मटके का पानी शीतलता तो प्रदान करता है पर कब्ज,गला ख़राब होना आदि रोग नहीं उत्पन्न करता ।

सावधानी :

मटके के सूक्ष्म छिद्रों में विभिन्न वैक्टीरिया अपना घर बना लेते है इसलिए प्रतिदिन मटके को गर्म पानी से अच्छी तरह से धोकर ताज़ा पानी भर लेना चाहिए | भूलकर भी मटके का बासा पानी उपयोग में नही लेना चाहिए |

87 COMMENTS

  1. 822864 221638I enjoyed reading your pleasant internet site. I see you offer priceless info. stumbled into this internet site by chance but Im sure glad I clicked on that link. You surely answered all the questions Ive been dying to answer for some time now. Will surely come back for a lot more of this. 194622

  2. 740433 742631never saw a web site like this, relaly impressed. compared to other blogs with this post this was definatly the most effective web site. will save. 476853

  3. I thought it was going to be some boring old post, but it really compensated for my time. I will publish a link to this page on my weblog. I am sure my visitors will come across that quite useful

  4. 511624 947919It was any exhilaration discovering your site yesterday. I arrived here nowadays hunting new items. I was not necessarily frustrated. Your concepts right after new approaches on this thing have been helpful plus an superb assistance to personally. We appreciate you leaving out time to write out these items and then for revealing your thoughts. 842161

LEAVE A REPLY