loading...

शीघ्रपतन रोकने के लिए घरेलू उपाय

कुछ घरेलू रामबाण नुस्खे - मूसली के लगभग 10 ग्राम चूर्ण को 250 ग्राम गाय...

वीर्य विकार – घरेलू उपचार

मूत्र में धातु का आना एवं वीर्य सम्बन्धी अन्य विकारों का सरल घरेलू उपचार -   ...

यह प्रयोग सभी तरह के वात दर्द को कर देगा चुटकियों में गायब !

. By- Dr. Kailash Dwivedi जानिए एक अनुभूत एवं अदभुत तेल बानाने की विधि जो...

अण्डकोष की सूजन

इस रोग में रोगी व्यक्ति के अण्डकोषों में सूजन आ जाती है एवं अण्डकोषों में...

जानिए,क्या होता है जब ब्लड में प्लेटलेट्स की संख्या 150,000 से कम हो जाती है ! एवं इन्हें बढ़ाने के उपाय

यह तो सभी जानते हैं कि डेंगू और मलेरिया होने पर रक्त में प्लेटलेट्स काउन्ट...

रसिकजन के कार्य

श्लोक-1. गृहीतविद्यः प्रतिग्रहजयक्रयर्निशाधिगतैरर्थैरन्वयागतैरुभयैर्वा गार्हस्थ्यमधिगम्य नागरकमवृत्तं वर्तेत।।1।। अर्थ- विद्या अध्ययन के समय ब्रह्मचर्य का पालन करना चाहिए।...

स्वास्थ्य के लिए जिंक है बेहद जरूरी – पढ़िए इसकी कमी से होने वाले रोग

. By- Dr. Kailash Dwivedi ज़िंक (zinc) एक सूक्ष्म मिनरल है जोकि शरीर के लिए...

बबासीर के मस्सों को कैसे नष्ट करें

नीम के कोमल पत्तियों को घी में भूनकर उसमें थोड़े-से कपूर...

सर्वरोगहारी तुलसी के पौधों का सत्

पाँच तरह की तुलसी के पौधों का सत् : पारम्परिक भारतीय चिकित्सा प्रणाली में तुलसी सर्वरोग...

दाद का घरेलू उपचार

शरीर की त्वचा पर कहीं भी चकत्ते हो तो उस पर नींबू के टुकड़े काटकर...
loading...
loading...

POPULAR POSTS

यह प्रयोग सभी तरह के वात दर्द को कर देगा चुटकियों में गायब !

. By- Dr. Kailash Dwivedi जानिए एक अनुभूत एवं अदभुत तेल बानाने की विधि जो...

बवासीर व भगंदर को दूर करे महामुद्रा

अथ महामुद्राकथनम्। पायुमूलं वामगुल्फे संपीड्य दृढयत्नतः। याम्यपादं प्रसार्याथ करेधृत पदांगुलः ॥६॥ कण्ठ संकोचनं कृत्वा भ्रुवोर्मध्ये निरीक्षयेत्। महामुद्राभिधामुद्रा कथ्यते चैव...

जानिए , हमारे देश की पुरानी मान्यतायें जिनसे लोग अनुमान लगाते हैं कि होनेवाला बच्चा लड़का है या लड़की !

यूँ तो भ्रूण का लिंग परीक्षण हमारे देश में क़ानूनी अपराध है लेकिन फिर भी प्रेगनेंसी...

पंचम अध्याय : ईश्वरकामितम प्रकरण

श्लोक (1)- न राज्ञां महामात्राणां वा परभवनप्रवेशो विद्यते। महाजनेन हि चरितमेषां दृश्येतऽनुविर्धग्यते च।। अर्थ- राजा, मंत्री...

गुणकारी जामुन

एसिडिटी  एसिडिटी होने पर जामुन का भूने हुए चूर्ण में काला नमक...

जानिये पालक के गुण

पालक के पोषक तत्व प्रति 100 ग्राम में : Calories 23 % Daily Value* Total Fat...

इन सरल प्रयोगों से नाखूनों का फंगल संक्रमण हटायें

. By- Dr. Kailash Dwivedi नाखूनों में फंगल इन्फेक्शन हो जाने से न सिर्फ बल्कि नाखूनों...

आत्यंतिक भक्ति पूर्वक श्वास के दो संधि-स्थलों पर केंद्रित होकर ज्ञाता को जान लो-विज्ञान भैरव तंत्र-08

आत्यंतिक भक्ति पूर्वक श्वास के दो संधि-स्थलों पर केंद्रित होकर ज्ञाता को जान लो। इन विधियों...

कब्ज है तो घबराएँ नही, इन घरेलू उपायों को अपनाएं

  पके टमाटर का रस एक कप पीने से पुरानी से...

अष्टम अध्याय-पुरुषायित प्रकरण (विपरीत रति)

श्लोक-(1)- नायकस्य संतताभ्यासात्परिश्रममुपलभ्य रागस्य चानुपशमम्, अनुमता तेन तमधोऽवपात्य पुरुषायितेन साहाय्यं दद्यात्।। अर्थ : संभोग क्रिया में जिस...

कटि स्नान ; सब रोगों की एक दवा

साधन : टब, छोटा स्टूल, छोटा तौलिया, कम्बल, पानी | जल का तापमान : कटि स्नान में प्रयोग...

जानिये ! चना के औषधीय गुण

चने अंकुरित करने की विधि : सर्वप्रथम चने को साफ करके प्रातःकाल इतने पानी में भिगोएं...

खुजली का घरेलू उपचार

नींबू का रस एवं अलसी के तेल को बराबर मात्रा में...

हल्दी के औषधीय प्रयोग

हल्दी ------- हल्दी (टर्मरिक) भारतीय वनस्पति है। यह अदरक की प्रजाति का ५-६ फुट तक बढ़ने वाला...

जानिए, पपीता के औषधीय गुण

Nutrition Facts                            ...

सूर्यभेदी प्राणायाम

Yoga guru Suneel Singh  (Yoga guru suneel singh is one of the top 5 yoga gurus...

विभिन्न अंगों में कैसर के लक्षण एवं योग उपचार :

1. जीभ और मुँह : ठीक न होने वाला अलसर या धब्बा या रसौली बाद में...

भोजन के सम्बन्ध में यह बाते ध्यान रखें !

प्रातः चाय काफी के बजाय नींबू पानी लेना चाहिए । ...

बाह्य कुम्भक

विधि : किसी भी ध्यानात्मक आसन में बैठकर पूरी शक्ति से श्वास...

गंजेपन व बाल झड़ने से परेशान हैं तो इन्हें आजमायें !

दही को तांबे के बर्तन से ही इतनी देर रगडे़ कि...

शिथिल होने की दूसरी विधि-विज्ञान भैरव तन्त्र-11

जब चींटी के रेंगने की अनुभूति हो तो इंद्रियों के द्वार बंद कर दो। तब। यह...

पंचम अध्याय : दशन छेद्यविधि प्रकरण

श्लोक(1)- उत्तरौष्ठमन्तर्मुखं नयनमिति मुत्तवा चुम्बनवद्दशनरदन स्थानानि।। अर्थ : ऊपर वाला होंठ, आंख और जीभ को छोड़कर बाकी...